Become a PUBLISHED AUTHOR at just 1999/- INR!! Limited Period Offer
Become a PUBLISHED AUTHOR at just 1999/- INR!! Limited Period Offer
मैंने अपनी...

मैंने अपनी नाकाम मोहब्बत पर लिखी, जी हां वो मेरी जिंदगी की किताब ही है। पढ़ता है जो भी आ जाता है बस यारों, उनकी आंखों में फिर आंसूओं का सैलाब है।

By Sumit. Malhotra
 215


More hindi quote from Sumit. Malhotra
0 Likes   0 Comments
0 Likes   0 Comments
0 Likes   0 Comments
0 Likes   0 Comments
0 Likes   0 Comments