Become a PUBLISHED AUTHOR at just 1999/- INR!! Limited Period Offer
Become a PUBLISHED AUTHOR at just 1999/- INR!! Limited Period Offer
जहां...

जहां इंटेलेक्चुअल व्यक्ति अपनी अंतकरण की क्षमताओं ( सेन्सेस+नॉलेज) का उपयोग और विकास करने में प्रयासरत होते हैं. वही सन्यासी इस अंतकरण को संयम के बल से नियंत्रण में रखने की क्षमता बढ़ाता हैं.

By Yashwant Rathore
 259


More hindi quote from Yashwant Rathore
0 Likes   0 Comments
0 Likes   0 Comments
0 Likes   0 Comments
0 Likes   0 Comments
0 Likes   0 Comments