@twvin7t2

Neha Yadav
Literary Colonel

155
Posts
178
Followers
3
Following

जीवन की सुंदरता एहसासों से होकर गुजरती है।।

Share with friends

Submitted on 08 Jan, 2020 at 05:19 AM

अरमानों का गठ्ठर बांध दिया सपनों को अब मसल दिया इक़रार की बात क्या करुं ख़ुद को ही अब राख कर दिया।। ©नेहा यादव

Submitted on 06 Dec, 2019 at 07:36 AM

पैसा जरूरी है जरूरत के लिए, आत्मसम्मान जरूरी है; स्वयं के सुकून के लिए।। ©नेहा यादव

Submitted on 22 Nov, 2019 at 15:24 PM

हारे भी तो तेरी बाहों में;फिर जीतने का हुनर ही भुला बैठें।। नेहा यादव

Submitted on 22 Nov, 2019 at 15:21 PM

हारे भी तो तेरी बाहों में;फिर जीतने का हुनर ही भुला बैठें।। नेहा यादव

Submitted on 22 Nov, 2019 at 12:57 PM

समेट लो मुझे बाजुओं में, एक आह दुबक जाएगी, अधर स्पर्श से तेरे प्रियतम, मेरी रूह सिहर जाएगी।

Submitted on 05 Oct, 2019 at 05:28 AM

हम कोई शायर नही दिल की बात, चंद लफ्जों से बयां कर देंगे। नेहा यादव

Submitted on 05 Oct, 2019 at 05:23 AM

एक सफर चलते चलते, हम इस कदर बेखर हो गए, दिल की बाते लिखने के लिए, कलम से मेहर हो गए।। नेहा यादव

Submitted on 10 Jul, 2019 at 09:26 AM

परख सको को तो, चेहरा नही दिल परखो, देखा है सुंदर चेहरे ही, जिंदगी तबाह करते हैं।। नेहा यादव

Submitted on 10 Jul, 2019 at 04:09 AM

हर तरफ एक आग है,, कहीं लौ बन के, कहीं जलन बन के।। नेहा यादव

Submitted on 10 Jul, 2019 at 04:05 AM

चूड़ियों की खनक में राग बन गए तुम, पायलों की झंकार में साज बन गए तुम, आंखों का काजल बन नजरों में बसते हो, मेरे आंचल की धार बन गए हो तुम, समेटा रखा है जो लिबास तन पर, मेरी हया का सूत तार बन गए हो तुम।। ✍️नेहा यादव

Submitted on 01 Jul, 2019 at 08:19 AM

आपका यकीन मेरे लिए जीवन के समान है, जो सांस के साथ काया में राख हो जाएगी, हम ना हो जो इस जहां में कहीं फिर भी, अहसास की माला बन मेरी तस्वीर पर छप जाएगी।। #नेहा यादव

Submitted on 29 Jun, 2019 at 16:33 PM

कुछ अधूरी ख्वाइशें ही, जीने की फरमाइशें बन जाती हैं, हर ख्वाब पूरा हो जाए, ये जरूरी तो नहीं।। #नेहा यादव

Submitted on 29 Jun, 2019 at 16:24 PM

अदाएं बड़ी दिलकश है आपकी,, कभी रूठना और मानना पड़ता है,, हजार जफाएँ सह कर भी सनम, आपको गले से लगाना पड़ता है।। #नेहा यादव

Submitted on 29 Jun, 2019 at 16:18 PM

मैं लाख बुरी हूं मगर खाक नही, जो जल के बुझ जाए मैं वो राख नही। #नेहा यादव

Submitted on 29 Jun, 2019 at 06:57 AM

ये सफर जिंदगी का, जफ़ा सा लगता क्यूँ है, यहां हर शख्स, बेवफा सा लगता क्यूँ है। #नेहा यादव

Submitted on 29 Jun, 2019 at 06:53 AM

जो काम आंखों से हुआ,, काजल यूं ही बदनाम हुआ,, इश्क की राह में जानम, ऐसे ही गुलिस्तां आम हुआ।। #नेहा यादव

Submitted on 29 Jun, 2019 at 06:49 AM

क्या रुशवाई करना किसी से, क्या इल्जाम देना किसी को, #नसीब के इस सफर में, क्या बेरहम कहना किसी को, हद में रहते हैं यहाँ हर शख्स, अपनी घड़ी तक सभी, बिछड़ जो गए जो हमसे तो क्या बेवफा कहें किसी को।। #नेहा यादव

Submitted on 29 Jun, 2019 at 06:46 AM

आंखों की नर्मियाँ आपकी, जाने कितनी बातें कह जाती हैं, कुछ आप ना कह सके कभी, वो सौगातें बयां कर जाती हैं।।


Feed

Library

Write

Notification

Profile