@pk8fg0ps

Anu Gangwal
Literary Captain

17
Posts
8
Followers
0
Following

मेरा नाम अनुगंगवाल है दिल्ली विश्वविद्यालय से एम ए और ट्रांसलेशन कर चुकी हूँ।साहित्य में विशेष रुचि है। विभिन्न पत्र पत्रिकाओं तथा वेबसाइट पर मेरी रचनाए प्रकाशित हो गयी है काव्य समितियों में आमंत्रित कवि गण के रूप में अपनी मौजूदगी दर्ज की है फ्रीलांसर राइटर, एडिटर, प्रूफरीडर तथा ट्रांसलेटर का... Read more

Share with friends
Earned badges
See all

Submitted on 07 Sep, 2020 at 09:59 AM

जितना लूट सकते हों लूट लो इन किताबों में इतना ख़ज़ाना है ये ताउम्र तुम्हे गरीब नही होने देगा। ©anugangwal

Submitted on 07 Sep, 2020 at 09:59 AM

जितना लूट सकते हों लूट लो इन किताबों में इतना ख़ज़ाना है ये ताउम्र तुम्हे गरीब नही होने देगा। ©anugangwal

Submitted on 07 Sep, 2020 at 09:59 AM

जितना लूट सकते हों लूट लो इन किताबों में इतना ख़ज़ाना है ये ताउम्र तुम्हे गरीब नही होने देगा। ©anugangwal

Submitted on 07 Sep, 2020 at 09:59 AM

जितना लूट सकते हों लूट लो इन किताबों में इतना ख़ज़ाना है ये ताउम्र तुम्हे गरीब नही होने देगा। ©anugangwal

Submitted on 25 Jul, 2020 at 05:08 AM

बात करनी है तो दिल से करो दिल रखने के लिए नही।।

Submitted on 08 Nov, 2019 at 08:01 AM

एक दिन के लिए रिहा करते है खुद को दुनिया दिखावटी उलझनों से और चल पड़ते है अनजान सफर में अरसा बीत गया अपनो से फुरसत से बाते किये हुए। ©anugangwal

Submitted on 08 Nov, 2019 at 07:54 AM

थोड़ी खुशियां जोड़ो थोड़े गम घटाओ कभी तुम मुस्कुराओ कभी मुस्कान की वजह बन जाओ इस रिश्ते की पोटली को यूँही खुशियों से भर दो। अनु गंगवाल


Feed

Library

Write

Notification

Profile