@lg4ur4p1

Gurminder Chawla
Literary Captain
93
Posts
1
Followers
0
Following

None

Share with friends
Earned badges
See all

Submitted on 07 Mar, 2021 at 19:15 PM

बंधे थे हम एक दूजे के आंसू पोछने के लिये हो गये हम एक-दूसरे के खून पीने के लिए । GChawla

Submitted on 15 Feb, 2021 at 06:54 AM

रहता इसी दुनिया में मगर तुम्हारी नजर अंदाजगी ने अजूबा बना दिया । GChawla

Submitted on 14 Feb, 2021 at 10:59 AM

Happy Valentine's Day to all my followers- G Chawla

Submitted on 12 Feb, 2021 at 08:41 AM

पास बैठो तबीयत बहला दो हमारी हस्ती को थोड़ा बढ़ा दो ।GChawla

Submitted on 19 Jan, 2021 at 05:58 AM

महसूस कर लेने दो तुम्हारी गरम सांसे को ,जरा करीब से क्यो कि तुम्हे छूने का हक़ तो हमे कभी मिला ही नही। GChawla

Submitted on 08 Jan, 2021 at 08:03 AM

फिर जगी तमन्ना जीने की खुशी ने दरवाजा खटखटाया है मेरा बिछड़ा हुआ हमसफ़र जो लौट आया है । GChawla

Submitted on 05 Jan, 2021 at 08:44 AM

ऐ जिंदगी तेरे उजाले मुझ को रास न आये तेरे अंधेरों से ही प्यार हो चला है । GChawla

Submitted on 04 Jan, 2021 at 09:09 AM

लगा कर पुतला निभा दिया तूने फर्ज अपना भूल गया तू , मेरी मौत का कर्जदार तू ही है । GChawla

Submitted on 02 Jan, 2021 at 16:49 PM

यूँ ही ख्याल आया कलम हाथ मे आयी और लिख दिया अपनी ही मोहब्बत की मौत का फरमान GChawla


Feed

Library

Write

Notification
Profile