@kthljhl7

Sarita Dubay
Literary Captain

6
Posts
28
Followers
0
Following

I'm Sarita and I love to read StoryMirror contents.

Share with friends

Submitted on 14 Jul, 2019 at 11:58 AM

# चाहत हर चाहत पूरी हो ये चाहत हर कोई लिए बैठा हैं, नासमझ ये भी नहीं समझते चाहत नाम ही उसके लिए मुक्कमल हैं, जो पूरी हो नहीं पाती।।।

Submitted on 14 Jul, 2019 at 11:57 AM

# चाहत हर चाहत पूरी हो ये चाहत हर कोई लिए बैठा हैं, नासमझ ये भी नहीं समझते चाहत शब्द ही उसके लिए मुक्कमल हैं, जो पूरी हो नहीं पाती।।।

Submitted on 11 Jul, 2019 at 15:26 PM

मोहब्बत का मुक्कमल सिला मिलता हैं कुछ यूं जो इज़हार के हर अदाओं पे फिदा हुआ करते हैं, इश्क़ का सुरुर उतरते ही हुज़ूर महफ़िल में रेहफ्ता करार करते हैं।


Feed

Library

Write

Notification

Profile