@8mguizwf

Shatakshi Sarswat
Literary Colonel

16
Posts
10
Followers
0
Following

I'm writer, teacher and a counselor. I write whatever comes in my mind.

Share with friends

Submitted on 07 Aug, 2020 at 16:41 PM

जीवन के मौसम में अब पतझड़ का एहसास हो चला है, पर बसंत रुपी फूलों को इस मौसम में भी संजो के रखा है।

Submitted on 20 Jun, 2020 at 16:17 PM

Life is a hope or Hope is a life, Life is a miracle or Miracle is a life, but it's all about life.

Submitted on 14 Dec, 2019 at 17:14 PM

वो चाहत मेरी खुद से ज्यादा चाहत है मुझे उससे, चाहती हूँ जुड़ जाऊँ किसी मोड़ पे तो उससे, हर लम्हे में रहू साथ उसके, हर पल चाहूँ बस उसे, बस उसे, बस उसे।


Feed

Library

Write

Notification

Profile