@576oyb3m

mamta pathak
Literary Colonel
AUTHOR OF THE YEAR 2019 - NOMINEE

42
Posts
7
Followers
6
Following

I'm mamta and I love to read StoryMirror contents.

Share with friends
Earned badges
See all

Submitted on 08 Jun, 2021 at 13:55 PM

मैं उसकी मंज़िल नहीं, उसकी मंज़ि

Submitted on 08 Jun, 2021 at 13:47 PM

मैं उसकी मंज़िल नहीं, उसकी मंज़िल तो कुछ और है। उसकी यात्राएं खुद से शुरू होकर, खुद पर खत्म हो जाती है।

Submitted on 02 Dec, 2020 at 14:11 PM

संबंध अनमोल हैं, इसलिए हर संबंध को, सिर्फ प्रेम से ही तोला। मगर हर रिश्ता अपनी, जरूरत तक ही बोला। निकल गए सब, अपना - अपना हिस्सा लेकर, ज़िन्दगी से लड़ता रहा , मैं तन्हा - अकेला।

Submitted on 10 Oct, 2020 at 15:03 PM

शुक्रिया उनका जिन्होंने, तूफ़ान में धकेला मुझे। अब आ गया तन्हा, लहरों से लड़ना मुझे।

Submitted on 07 Jul, 2020 at 06:50 AM

उम्मीद खत्म,दर्द खत्म। न कोई कशिश न कोई आहट। न समझना, न समझाना , बस सपना और चलना।

Submitted on 07 Jul, 2020 at 06:50 AM

उम्मीद खत्म,दर्द खत्म। न कोई कशिश न कोई आहट। न समझना, न समझाना , बस सपना और चलना।

Submitted on 15 Jun, 2020 at 13:40 PM

चलता रहाराहों पर ,,गिरता रहा राहों पर, पिछली गलती से सीख , आगे बढ़ता रहा राहों पर।

Submitted on 15 Jun, 2020 at 13:21 PM

ज़िन्दगी की परीक्षा जीता वही,जिसने जाना , धूल है और हवा लगे उड़ जाना है ज़िन्दगी।

Submitted on 15 Jun, 2020 at 13:16 PM

मानव से मानव का प्रेम, विश्वास से ही बन पाता है। जो करे विश्वासघात , वह पापी कहलाता है।


Feed

Library

Write

Notification
Profile