@3k28nu2f

Dr.Shilpi Srivastava
Literary Colonel
53
Posts
11
Followers
2
Following

मैं डॉ. शिल्पी श्रीवास्तव निवासी मेंहदौरी कॉलोनी प्रयागराज।वर्तमान में मैं एम.पी.वी.एम.गंगागुरुकुलम विद्यालय, प्रयागराज में हिंदी और संस्कृत के अध्यापिका हूँ। मैंने वर्ष 2002 में इलाहाबाद विश्वविद्यालय से संस्कृत में एम.ए. की परी।क्षा उत्तीर्ण की एवं सर्वोच्च स्थान प्राप्त कर गोल्ड मेडल प्राप्त... Read more

Share with friends
Earned badges
See all

Submitted on 09 Oct, 2020 at 10:14 AM

है शिकायत मुझे आज उस बात से, जिसकी मैंने किसी से भी चर्चा न की, है शिकायत मुझे अपने जज़्बात से, जिसकी खुलकर कभी मैंने परवाह न की।

Submitted on 09 Oct, 2020 at 10:11 AM

ऐ ज़िंदगी तुझे जीने का मौका ही नहीं मिलता, जब मौका मिलेगा शायद! तब तू संग न होगी ।

Submitted on 09 Oct, 2020 at 09:43 AM

अपनी ही धुन में रहने का मज़ा ही कुछ और है, ख़ुद से ही बातें करने का मज़ा ही कुछ और है ।

Submitted on 23 Jul, 2020 at 03:56 AM

शिक़वा है ज़िंदगी से बस एक बात का, जो दिल का नूर था वही 'दर्द ए ज़िगर' बना।

Submitted on 19 Apr, 2020 at 21:23 PM

ऐ ज़िंदगी हर साँस में तेरी नियामत है , तू जो ग़र यूँ साथ तो दुनिया सलामत है ।

Submitted on 19 Apr, 2020 at 21:23 PM

ऐ ज़िंदगी हर साँस में तेरी नियामत है , तू जो ग़र यूँ साथ तो दुनिया सलामत है ।


Feed

Library

Write

Notification
Profile