RAJENDRA SINGH PARMAR
Literary Captain
11
Posts
6
Followers
0
Following

एक कवि मैं अनपढ़ जैसा , लिखता हूं कुछ गड़बड़ जैसा।

Share with friends
Earned badges
See all

मिज़ाज नही ऐसा की एक जगह ठहरा जाए मैं दिल हूँ चलो कही और ठिकाना देखा जाए

मिज़ाज नही ऐसा की एक जगह ठहरा जाए मैं दिल हूँ चलो कही और ठिकाना देखा जाए - राजेन्द्र


Feed

Library

Write

Notification
Profile