Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
काश ! दो  दिल होते ...
काश ! दो दिल होते ...
★★★★★

© Abasaheb Mhaske

Tragedy

2 Minutes   1.7K    22


Content Ranking

काश ! दो दिल होते सिने मे ...तो कितना मजा आता जिने मे...

एक भलेही तडपता युंही जिंदगीभर मगर..दुसरा तो खुशनशिब होता ! काश ! तुम समझ पाती मेरे दुःख -दर्द..मजबुरी मेरे अरमान सबकुछ ...

तो यह वीरांन सी जिंदगी ...मेरे किस्मत मेरे नहीं होती अगर तू साथ देती !

जब कभी मै तुझे भूलने की कोशिश करता हुं ...जाने क्यूँ ... हर बार नाकामयाब होता हुं !

बस... शुरु ही किया था कहीं और दिल लगाने का तो ..

याद आता वो सबकुछ ... मिलकर हमने कुछ सपने बुने थे !

काश ! तू युंही मुझे अकेला छोडकर ना जाती ...

जातेसमय यादे भी अपनी साथ ले जाती !...

तू होती तो क्या क्या होता ?.. तू नहीं हैं तो ...

अजबसी उदासी ...जैसे दुनिया सारी रुख सी गई !

तू यह कहेती, वो ना कहेती हमेशा कि तरह मुझे सताती ...

जो कुछ भी हैं दिल मे सबकुछ बताती, हसती, रोती बिलगती !

तू जिंदगी, दोस्त, प्यार ढेर सारा, तू हि तो थी सबकुछ मेरा...

सुख, चैन, निंद वो सारे सपने ..मेरे अपने चक्काचूर हो गये !

तुझे भुलना तो चाहा बहुत लेकिन... भुला ना पाया कभी ...

दिल मेरा काबू मे न था, ना हैं ...ना रहेगा, मैं भला क्या करता ?

दिल तो दिल हैं .. तू ही संगदिल सनम भूगतना तो मूझेही हैं ...

तेरा क्या तुने तो बसाया होगा घर अपना .. मै युंही तडपकर मरता !

Love Heartbroken Life

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..