Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
क्या लिखूँ?
क्या लिखूँ?
★★★★★

© Nikhil Sharma

Abstract

2 Minutes   14.1K    18


Content Ranking

सब कुछ तो सबने कह दिया । 
अब मैँ क्या कहूँ?
तेरे बारे में माँ । 
क्या लिखूँ ?

जब मैं बोल भी नहीं सकता था | 
तू मुझसे बातें करती थी ॥ 
मैं सुसु से रोया, या भूख से रोता था । 
ये पहेली बस तू समझती थी ॥

तेरी जादूगरी के बारे में सबने कह दिया 
अब मैँ क्या कहूँ?
तेरे बारे में माँ 
क्या लिखूँ ?

मुझे गिर कर उठना तूने सिखाया है। 
तू नहलाती थी तब सब कहते "आज नहाया है " ॥ 
दुनिया ने मेरी सूरत चाहे जैसी भी पायी हो । 
तूने मुझमें "चाँद " ही पाया है ॥

तेरे इस दुलार के बारे में सबने कह दिया । 
अब मैँ क्या कहूँ?
तेरे बारे में माँ 
क्या लिखूँ ?

पैसे कितने कमाता हूँ ये सब पूछते हैं । 
रोटी खाई की नहीं , बस तू पूछती थी ॥ 
खुद ने चाहे एक निवाला न खाया हो । 
पर मैंने खाया की नहीं, तू ख्याल रखती थी ॥

तेरे त्याग के बारे में सबने कह दिया । 
अब मैँ क्या कहूँ?
तेरे बारे में माँ 
क्या लिखूँ ?

कुछ माँगा भी तो ये,
कि मेरा बेटा सबसे अव्वल हो ॥ 
तूने मेरी जीत को 
खुद की जीत बनाया है ।।

कोई तुझे क्या देगा माँ ,
सब कुछ तो तुझसे पाया है ॥

सब कुछ तो सबने कह दिया । 
अब मैँ क्या कहूँ?
तेरे बारे में माँ । 
क्या लिखूँ ?

#कविता #रोचक

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..