तो अच्छा होता

तो अच्छा होता

1 min 228 1 min 228

अगर मेरी मां ने मेरी बहन को,

उसके कपड़ों पर ना टोका होता,

तो अच्छा होता।


अगर लड़के और लड़की को,

समान अधिकार जताया होता,

तो अच्छा होता।


अगर मेरी टीचर ने मुझे स्कूल में,

आखिरी बेंच पर बैठाने से पहले

मुझे मेरी गलतियां बताई होती,

तो अच्छा होता।


जब मैं पहली बार एक अनजान

लड़की को खुलेआम छेड़ रहा था,

मुझे उस वक्त लोगों ने रोका होता,

तो अच्छा होता।


अगर लड़कियों के छोटे कपड़े

और किसी चरित्रहीन में फर्क

समय रहते बताया गया होता,

तो अच्छा होता।


ये सारी छोटी छोटी बातें

मुझे अगर उम्र के दौरान,

समझा दिया गया होता

तो वाकई अच्छा होता।


Rate this content
Originality
Flow
Language
Cover Design