मुलाकात न हुई !

मुलाकात न हुई !

1 min 14K 1 min 14K

तेरे शहर से हम चले आए,

पर तुझसे मुलाकात न हुई,

दिल अपना तेरे गली में छोड़ आए,

पर तुमसे मुलाकात न हुई।

बेचैनियों को हमने भी महसूस किया,

शायद तूने कई बार था उफ़ किया।

तेरी राहों से हम फिर लौट आए,

पर तुझसे मुलाकात न हुई।

उस शहर में कई लोगों का मेला था,

तेरे बिना दिल फिर अकेला था।

लाखों की भीड़ से निकल आए,

पर तुझसे मुलाकात न हुई।

हर कोने में हम झाक रहे थे,

लोग अजनबी की तरह ताक रहे थे।

कई दर पर तेरा जिक्र करते आए,

पर तुझसे मुलाकात न हुई।



Rate this content
Originality
Flow
Language
Cover Design