Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
पुरानी तस्वीरें
पुरानी तस्वीरें
★★★★★

© Parul Chaturvedi

Inspirational

2 Minutes   14.0K    6


Content Ranking

कुछ गुज़रे साल उठाकर देखे
हमने आज तस्वीरों में
खोले कुछ पल जो कैद थे
काग़ज़ की ज़ंजीरों में

वक़्त से सौदा किया जो उम्र का
देखें पाया क्या इन सालों में
बस यादों का एक ख़ज़ाना था
और सफेदी थी इन बालों में

शक्ल हमारी बदलती गयी
पलटते एल्बम के पन्नों में
साल दर साल देखे बदलाव
आते गये हैं कैसे चेहरों में

ये दोस्त पुराने अपने थे
जो जुड़ गये हैं अब अन्जानों में
पहुँच गये हम फिर वापस
उन भूले बिसरे क़िरदारों में

कुछ हँसीं वादियाँ देखीं तो
फिर घूम उठे उन शहरों में
लगा रहे थे गोते हम
यादों की आती जाती लहरों में

बदलती गईं जैसे-जैसे
ब्लैक एण्ड व्हाइट तस्वीरें रंगों में
यादों का रुख कुछ उल्टा था
भर रहीं थीं रंग वो ब्लैक एण्ड व्हाइट तस्वीरों में

कुछ तस्वीरें तो बोल उठीं
खो गये हम उनकी बातों में
एक बार को तो यूँ लगा हमें
कि ले लिया है वक्त को हमने हाथों में

देख के उन तस्वीरों को
छलका कुछ पानी आँखों में
कुछ सूखे आँसू और मिले
काग़ज़ पर पीले पड़े निशानों में

गुज़रा वक़्त लौट नहीं सकता
प्रचलित है बात ज़माने में
फिर भी लगी रहती हैं ये
कुछ बीते लम्हे लौटाने में

ये 'आज' आज जो गुज़र रहा है
बदल जायेगा कल, 'कल' में
गर लौट के फिर जीना चाहो
तो इसको भी कैद करो तस्वीरों में।

Old photographs nostalgia memories life

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..