Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
लाइलाज ज़िंदगी
लाइलाज ज़िंदगी
★★★★★

© Bhavna Thaker

Abstract Tragedy

1 Minutes   278    15


Content Ranking

जद्दोजहद की जलाती,

कड़ी धूप से बिलखते,

ज़िंदगी की दुकान में ,

ढूँढकर देखा हर जगह मैंने|


कोई इलाज गम-ए-दिल का,

मिला न कोई मरहम कहीं, 

बस है यहाँ सिर्फ़ जलना, 

लाइलाज-सी ज़िंदगी मिली| 


तकदीर के हाथों मजबूर-सी,

देखा हाँ ये देखा मैंने, 

दर्द-ए-दिल का इलाज ढूँढ़ते, 

मौत की शै में मिला इलाज| 


हर गम से निज़ात देती मौत, 

हर दर्द की मिली दवाई यहाँ| 

तकदीर इलाज दर्द

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..