Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
 इस देश में चारों ओर
इस देश में चारों ओर
★★★★★

© Shailesh Bhaarat

Others

1 Minutes   20.6K    3


Content Ranking

थाली तो जबरन छीनी गई
ताल ठोंक कर 
अब पेट से छीनने को तैयार हैं
ढ़ाई दिन की हुक़ूमत वाले !
     ..... इस देश में चारों ओर "
प्रजा का हिस्सा खाकर
पेट सहला रहे हैं नेता
विरोध में प्रजा अनशन कर रही है
....... इस देश में चारों ओर "
अब धार भी अपनी नहीं रही
राणा प्रताप बनना बेकार
एक हौसला है बचा 
अत्याचार सहेगी प्रजा जिससे
...... इस दर्श में  चारों ओर "
पाक़ साफ़ हूँ  तब तक 
सरकार के पक्ष में हूँ जब तक 
विरोध करने पर 
दुनिया के सरे ऐब मुझमे आ जाऐंगे 
नहीं पता अन्याय का छोर

इस देश में चारों ओर .."

 

देश अन्याय

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..