Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
कोशिश मेरी
कोशिश मेरी
★★★★★

© Raman Sharma

Others

1 Minutes   1.2K    1


Content Ranking

हर कोशिश मेरी बेकार गई तुझे अपना बनाने में --
कह नहीं पाया दिल की बात कभी तुमसे मैं ---
*
तुम्हारी मुस्कराहट को सदा मैं प्यार समझता रहा --
मालूम पड़ा मेरे लिये कोई वफ़ा ही नहीं तेरे दिल में
*
मैं तो दिन-रात तेरे ही ख़्वाब देखता रहा सदा--
ना जाने क्यों गमों ने घेर लिया मुझे ज़िन्दगी में
*
अगर आई मेरी याद तुझे कभी जिन्दगी में --
याद रखना फिर लगेगी तुझे सदियाँ मुझे भुलाने में

---- रमन शर्मा ।

raman sharma

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..