Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
माँ
माँ
★★★★★

© Faizan Anjum

Others

1 Minutes   14.0K    6


Content Ranking

वो रूठ जाए फिर भी ऐसा नही करती,
के जब तलक़ देख न ले वो सोया नही करती... 
ये सच़ है की वो बेताब़ हो के मुझे याद़ करती है,
मगर बेशक़ नमाज़ों के पहर को ज़ाया नही करती...

#माँ #बेपनाह_मुहब्बत #सुकून

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..