Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
शत्रु का नाश
शत्रु का नाश
★★★★★

© Hasmukh Amathalal

Comedy

1 Minutes   6.8K    4


Content Ranking

शत्रु का नाश सर्वप्रथम अग्रिमता

इतनी रखो दिल में हाम और क्षमता

नहीं तो फिर खानी पड़े खता

और खोना पड़े ताज और सत्ता।  

 

सांप का भरोसा नहीं करना

उसके फनो को है कुचलना

नहीं देना कोई मौक़ा पलटके वार करने का

नहीं तो आ जाएगा मौक़ा मरने का।

 

आज का काम आज ही करना

कल का भरोसा आज नहीं करना

कल की कल देखी जायेगी

आज की सुबह बड़े शोर से मनाई जाएगी।

 

मीठे बोल का अनुमान नहीं करना

उसका मकसद होगा बाद में अपमान करना

धीरे से सर को कलम करना

और सलाम करके छू हो जाना।

 

में कोई संत और सयाना नहीं

पर बचकाना हरकत कभी नहीं

हर बोल का तौल ज़रूर होगा 

पलटवार अंतिम और आखिरी वार होगा।

 

एक बात का ख्याल हमेशा रखो

शत्रु के शत्रु को दोस्त बनाके रखो

मुश्किल समय में हुकम का इक्का साबित होगा

हार को समय आनेपर जीत में पलट देगा। 

 

ना रखो किसी का एहसान

देवा से कभी ना रहो परेशान

चुकाते रहो सही वक्त पर

दुश्मन को भी बधाई दो किसी नज़दीकी की मौत पर। 

दुश्मन नजदीकी

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..