Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
पिता
पिता
★★★★★

© Chandni Sethi Kochar

Drama

1 Minutes   6.7K    2


Content Ranking

एक कविता में कैसे बयान कर दे,

उनके बारे में जो हमारी पूरी जिंदगी थे !

कैसे शब्दों को जोडू उनके बारे में लिखने के लिए !

मन तो करता है अपने आँसुओं से लिखे !


उनके बारे में पर कुछ समय बाद

वह भी सुख कर ग़ायब हो जायेंगे !

वैसे ही जैसे आज वह हमारी जिंदगी

से चले गये आंसू के निशान

की तरह वो भी बस अपनी यादें छोड़ गए !


वह मेरी अनकही बात को वह समझ सकते थे !

मानती हूँ, ग़ुस्सा था उनमें पर आज मैं उस गुस्से के लिए भी तड़पती हूँ आज जिंदगी में सब कुछ पास हो कर भी ,

एक अधूरा अहसास जिनको शब्दों में

नहीं हमारे आँसुओं ने बयान किया है !







Father Child Love Care

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..