Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
माँ
माँ
★★★★★

© Saloni Sharma

Drama

1 Minutes   7.1K    8


Content Ranking

माँ तुम साहस हो,

जिसको ले कर मैं गगन भेदती हूँ।

एक आशा की किरण जिसकी झलक पर

मैं करोड़ों सपने पिरोती हूँ।

तुम्हारी प्रेरणा , मेरा जीवन - लक्ष्य,

तुम्हारा सपना, मेरा जीवन - कर्तव्य।


तुम्हारी निराशा , एक पूर्णविराम,

तुम्हारा दर्द और वेदना ; गूढ़ निशप्रभ।


तुम्हारा उल्लास, जीवन आह्लाद।

तुम्हारी उदासी, मेरा अवसाद।


तुम्हीं सृजन तुम्हीं संहार,

मेरा विश्व - दर्शन, मेरा संसार।


तुम्हीं से पाया जीवन, संस्कार,

स्वीकार करो मेरा आभार !

Motherhood Mothers Love Care

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..