Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
कितना प्यारा वो बचपन था
कितना प्यारा वो बचपन था
★★★★★

© Sanjeet Kumar

Others

1 Minutes   1.4K    4


Content Ranking

कितना प्यारा प्यारा 

वो बचपन था

हंसते थे ,तो सब हंसते थे

रोते थे,तो सब रोते थे

कितना प्यारा प्यारा

वो वक्त था

न पापा हैं पास न माँ

न अब वो डाँट है न लोरी 

हाँ,कितना प्यारा प्यारा 

वो प्यार था

और वो बचपन था

कविता

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..