Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
बचपन
बचपन
★★★★★

© Rishi Raj Singh

Fantasy

1 Minutes   6.7K    16


Content Ranking

आज अचानक पुरानी अलमारी की चाबी हाथ लगी,
खोला तो अंदर बचपन बिखरा हुआ मिला,
कुछ खिलौनों में, किताबों में
उधरी-चिथरी यादों में।
सब कुछ देखकर वापस कैद कर दिया बचपन को,
यादों को, ख़्वाबों को ,
बचकाने सवालों के जवाबों को।
चाबी फ़ेंक दी यूँ ही की फिर कभी मेरे हाँथ में न हो,
मेरी फिर कभी खुदसे दोबारा मुलाक़ात न हो।

बचपन खिलौनो किताबों यादों

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..