वर्ण के नाम पर आरक्षण .....

वर्ण के नाम पर आरक्षण .....

1 min 20.5K 1 min 20.5K

दृश्य

अखबार में

इस्तहार निकला

फलां पोस्ट फीस

सामान्य ६००/- एसटी  १००/-

एससी ५० /- मात्र

माँ-बाप ने किचन के

अखबार के नीचे ,

गुल्लक से

जहाँ से हो सके

रुपये इकठ्ठा किये

पर फिर भी कम पड़ गए

अपने नौनिहाल के फॉर्म के लिए .......

वह बोला ..

माँ इस देश में

गरीब होना पाप है

वर्ण चाहे कुछ भी हो ...

दृश्य

सरकारी स्कीम निकली

वर्ण के नाम पर दलित तपके

को उठाया जाएगा

ऊँचे ओहदे वाले

दलितो ने सब्सिडी का

पूरा फायदा उठाया

लेकिन खेतों में काम

करने वाला हरुवा

जो अपने परिवार संग

अब भी उसी दशा में रहने को

बाध्य है ,, जैसा पहले था

कसूर किसका? ......

सरकार बोलती है

हरुवा का ही होगा

जो अपनी दशा से

उठना ही नहीं चाहता !!


Rate this content
Originality
Flow
Language
Cover Design