स्ट्रीट-लाइट के नीचे

स्ट्रीट-लाइट के नीचे

1 min 13.7K 1 min 13.7K

स्ट्रीट-लाइट के नीचे

शहर की रात

धीरे-धीरे जवान होती है

कुछ ख़्वाब रातों में

टूटते तारों की तरह छन

जिनके टूटते ही लोग

आँखे बंद कर

अपनी-अपनी मंज़िल पाने की

 दुआ करते हैं .....

 


Rate this content
Originality
Flow
Language
Cover Design