Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
गज़ल
गज़ल
★★★★★

© Saurabh Sharma

Drama

1 Minutes   3.1K    8


Content Ranking

तेरा वो घर मेरा ही ससुराल बने,

अपना निकाह एक मिसाल बने !


दाग़ ना लगे कभी अपने दामन में,

ना रिश्तों पर कभी कोई सवाल बने !


तासीर-ए-इश्क़ ऐसी बस छाने लगे,

सबके दिलों में अपना ही ख़याल बने !


अतीत का सब आज में हम भुला देंगे,

भला क्यूँ बे-वजह आज पर बवाल बने !


इश्क़ वाली मोहब्बत करी है तुमसे हमने,

दुनिया में रिश्ता ये अपना बे-मिसाल बने !


काट लेंगे ये 'सफ़र' हम अपना साथ तेरे,

अपने मुकद्दर की चाहे कैसी भी चाल बने !

निकाह गजल प्रेम इश्क़

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..