Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
क्रांतिसूचक मेघ
क्रांतिसूचक मेघ
★★★★★

© Neetesh Yadav

Inspirational

1 Minutes   6.9K    6


Content Ranking

ऐ मेघ तुम बरसो घनघोर निडर 

शीतलमय धरा जीवन हो 

ज्वालामय भ्रष्ट भवन हो 

बरसे शोले लाये क्रांति 

पंखड़ियों की मिटे शांति 

ऐ मेघ तुम उपद्रव ला दो 

जनमानस को स्थिर बना दो 

ऐ मेघ तुम बरसो घनघोर निडर 

बज्रपात हो श्वेत काग पर 

बरसे फूल अंकुरित जाति पर

हे मेघ अविरल धारा बरसा दो

विषयुक्त गरल को तुम ध्वस्त करा दो

ऐ मेघ तुम बरसो घनघोर निडर 

याद अतीत कर सुइयां चुभती

छीन लिया जो सुखमय जीवन  

क्षीण त्रस्त किया जिसनें मुझको 

तुम उस पर प्रलय ला दो

हे मेघ तू वर्षा ल दो

क्रांतिसूचक ध्वनि सुना दो

ऐ मेघ तुम बरसो घनघोर निडर 

 

 

क्रांतिसूचक मेघ

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..