Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
रुसवाई..
रुसवाई..
★★★★★

© Jigisha Raj

Others

1 Minutes   13.8K    0


Content Ranking

कैसे कैसे ज़माने में रुसवा हुए है हम;

मेरे खून से तुम्हारा नाम लिखा गया।

 

आंसू न बहायेंगे तेरी यादों में अब से हम;

हँस हँस के यहाँ हमको पागल कहा गया।

 

कैसे कैसे पत्थरों को सह के दीवाने हुए हम;

एक एक घाव को तेरे नाम से खोदा गया।

 

नसीहत न देंगे कभी न दुआ किसी को देंगे हम;

हर एक आह पे तेरी हमें यूँ बदनाम किया गया।

 

 वो किस लोक  के लोग थे 'गिनी' पहचान न सके हम;

हर बार मेरे दिल का भरोसा यूँही तोड़ा गया ...

नसीहत न देंगे कभी न दुआ किसीको देंगे हम; हर एक आह पे तेरी हमे यूँ बदनाम किया गया।

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..