Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
कुछ खेल करूँ ,कुछ विज्ञान करूँ
कुछ खेल करूँ ,कुछ विज्ञान करूँ
★★★★★

© Vikas Sharma

Inspirational

2 Minutes   7.0K    3


Content Ranking

जहाँ जाने से प्रश्न उमड़ना शुरू कर दे ,

अब जब देखूँ तो कुछ खोजता हुआ देखूँ ,

कुछ कल्पनाएं गढ़ता हुआ ,

कुछ प्रयोगो से गुज़रूँ

आस –पास की चीजों को बाँट दूँ

उनकी प्रकृति ,गुणो जैसे आधारों में ,

पहचानु उनमे छिपे पैटर्नस को,

कुछ तर्क करूँ,

कुछ पूर्वानुमान करूँ,

कुछ अपने से सिद्धांत गढ़ ,

जो विभिन्न विषयों से जाना है

उन्हे जोड़कर कुछ संवाद करूँ,

कुछ बातों को छोडूं मैं,

कुछ नयी बातों को जोड़ूँ मैं ,

एक ढांचे में विचार गढ़ू ,

उनको दर्ज करूँ ,फिर नए सवाल करूँ ,

फिर नए सिरे से संवाद करूँ

रोज़मर्रा के छोटे –बड़े सवालों से

यहाँ जूझूँ मैं ,

उनके जबाब तलाश करूँ ,

फंसी पड़ी मानवता जिन जंजालों में

कुछ तो उनको खोलूँ में ,

कुछ तो जालें दूर करूँ ,

इस जगह से विज्ञान में जीने की शुरुआत करूँ ,

कुछ खेल करूँ ,कुछ विज्ञान करूँ ।

विज्ञानं विद्यार्थी शोध

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..