Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
आ गई है ,
आ गई है ,
★★★★★

© Masum Modasvi

Others

1 Minutes   1.2K    3


Content Ranking

घने बादलों की लड़ी आ गइ है ,
हवाओं में कितनी नमी आ गई है।

उन्हें साथ लेकर चलना है लेकिन,
मगर चाहतों मे कमी आ गई है ।

मेरी हसरतें मुझ को बहला रही हैं ,
इरादों में अब बरहमी आ गई है।

तुम्हारी कसम मुझ को दुरी सताये,
ये हालत मेरे सर बड़ी आ गई है ।

इरादे हमारे हैं मजबुत फीर भी ,
मुखालीफ जहां की गमी आ गइ है।

वफायें निभाने का अरमां इतना,
रहा दिल में पर बेबसी आ गई है।

चलो आज मासूम नये ख्वाब देखें,
नये दौर की फिर घड़ी आ गई है

गज़ल मुहब्बत

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..