Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
तुझे अब चलना होगा
तुझे अब चलना होगा
★★★★★

© Dr. Razzak Shaikh 'Rahi'

Inspirational

1 Minutes   7.2K    9


Content Ranking

उठ खड़ा हो जा तुझे अब चलना होगा

संसार की बिगड़ी सूरत को बदलना होगा ||धृ.||


मज़लूमों पर ज़ुल्म जो ढाते, कायर हैं वे सारे

तेरी शक्ति से तू उनको दिन में दिखा दे तारे

अत्याचार के सूरज को अब ढलना होगा  ||1||


सच्चाई की ताकत से पहचान करा दे

टूटे हुओं के पुरे सब अरमान करा दे

मानवता के दुश्मनों से सम्भलना होगा ||2||


दुनियावाले हिम्मत तेरी देखते ही रह जाएंगे

स्वार्थ के सारे पुतले, पलभर में ढह जाएंगे

तेरे क्रोध की आग में उन्हें जलना होगा  ||3||


अक्लमंद को नुमाइश ए इल्म की चोरी है

बेवकूफों के हाथों में सत्ता की डोरी है

कहर बरसाकर उनको अब छलना होगा  ||4||


आस लगाए बैठे है तेरी ओर ही सारे

चल गगन को छू ले अब अपने पंख पसारे

गुमनामी के अंधियारों से निकलना होगा  ||5||

अक्लमंद सत्ता सच्चाई

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..