Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
शायर की ज़िन्दगी मेँ
शायर की ज़िन्दगी मेँ
★★★★★

© Manish Pandey

Tragedy

2 Minutes   12.9K    5


Content Ranking

शायर की ज़िन्दगी में

रात का अंधकार होता है 

चमकने की आरज़ू होती है 

जलने की मजबूरी होती है 

सिगरेट फूँकते कुछ शब्द होते हैं 

जिनमें लिपटे होते हैं ज़ख्म माज़ी के

शायर की ज़िन्दगी में 

दूर दूर तक बेतरतीबी से बिखरा 

सफेद काग़ज़ का ढ़ेर होता है 

और होती है एक चुनौती 

सफेद काग़ज़ को लगातार

इन्द्रधनुष में बदलते रहने की

शायर की ज़िन्दगी में 

अधूरे प्रेम को अमर करती 

कालजयी रचनाएं होती हैं

सुखन फ़हम ग़ज़लें होती हैं 

मुकम्मल इश्क़ की उम्मीद में 

रूमानियत से भरे अफ़साने होते हैं 

जिसका वो रचनकार भी होता है 

और गढ़ा हुआ गुमनाम किरदार भी

शायर की ज़िन्दगी में 

इत्र में भीगे हुए ताज़ा

सुर्ख लाल गुलाब होते हैं 

सितारों की लड़ियां होती हैं 

और होते हैं पूनम के चाँद 

जिन्हें वो बहुत सलीके से

टांक देता हैं महबूबा के गालों पर

शायर की ज़िन्दगी में 

दिन दुगना रात चौगुना

बढ़ता हुआ ग़म का एक खज़ाना होता है

जिसे बड़ी एहतियात से शायर

अपने माशूक की यादों के 

साथ संजोकर रख लेता है 

बिस्तर के सिराहने पर

शायर की ज़िन्दगी में 

दुनिया रचने की ताकत होती है 

चेहरा बदलने की सहूलियत होती है 

ख़्वाब बुनने की फुरसत होती है 

मोहब्बत जीने का मौका होता है 

इम्तिहान होता है हर पल 

ख़्याल और हकीक़त में फ़र्क बनाए रखने का

शायर की ज़िन्दगी में 

बेइंतहा झुंझलाहट होती है 

नशे में धुत शामें होती हैं 

तवायफ़ का सहारा होता हैं  

बेवफाई के किस्से होते हैं 

बेनामी चिट्ठियों के अवशेष होते हैं 

हमदर्दी परोसती निगाहें होती हैं 

और होती है बेचैनी जिये जाने की

शायर की ज़िन्दगी में 

बेवजह का त्रिस्कार होता है 

लांछन ,बेबुनियाद आरोप होते हैं 

झूठी तसल्ली होती है 

अंतहीन धोखे होते हैं 

पहचाने जाने की भूख होती है 

खून सुखाता अकेलापन होता है

शायर की ज़िन्दगी में 

शायरी जैसा कुछ भी नहीं होता .

तन्हाई शायर मोहब्त जुदाई इंद्रधनुष

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..