Sonam Kewat

Abstract


Sonam Kewat

Abstract


आईने में देखा है क्या❓

आईने में देखा है क्या❓

1 min 131 1 min 131

वह गिरता है वह उठता है,

वह रोता है वह हंसता भी है।


लोग कहते हैं तू नहीं कर सकता,

पर ठान ले तो सब करता भी है।

वह खुद को कमजोर समझता है,

पर मान ले तो खुद संभलता भी है।


वह लोगों से नजरें भी छुपाता है,

पहली शुरुआत की हार भी बनाता है।

और वह जीतकर नजरें उठाता भी है।

आपको पता है कि वह कौन है ?


नहीं पता तो जाइए और देखिए,

वह कोई और नहीं बल्कि आप हो।

हाँ, एक आईना हैं जो आपको,

आपकी असलियत दिखाता है।


आखिर किसी और की सुनना है क्यों !

इस तरीके से जिंदगी को सोचा है क्या,

आपने कभी आईने में खुद को,

इस तरह से देखा है क्या ?


Rate this content
Originality
Flow
Language
Cover Design