Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
मेरी माँ
मेरी माँ
★★★★★

© Dev Kumar

Others

1 Minutes   13.7K    8


Content Ranking

तेरी वफ़ा छोड़ मैं बेवफाओं पे मरता रहा !

एक ही गुनाह मैं बार-बार करता रहा !

न चूमा तेरा आँचल, न छुऐ तेरे पाँव !

फिर कैसे मिल जाती मुझे चाहत की छाँव !

तप-तप के सीखा है मैंने ज़िन्दगी से !

चैन-ओ-सुकूँ मिलता है तेरी बंदगी से ! 

करूँ दीदार तेरा ख़ुदा जैसी तेरी सूरत है !

इस जहाँ में बस, तू वफ़ा की मूरत है !

ख़ुश'नसीब हैं वो जो तेरा प्यार पाते हैं !

जो दुखाते हैं तेरा दिल वो बड़ा पछताते हैं !

तेरा गुनाहगार हूँ माँ !

माफ़ कर देना मुझे माँ!

 

Meri Maa

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..