Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
देखा एक ख़्वाब मैंने
देखा एक ख़्वाब मैंने
★★★★★

© Vishal Ajmera

Others

1 Minutes   7.0K    5


Content Ranking

देखा एक ख़्वाब मैंने 
बस तुम थी 
भीगी पलकें थी, ठिठुरते नाज़ुक होंठ
निगाहें भी सच्चाई कब तक छुपाती 
दिल ने जो खाई चोट ।

कहा कुछ भी नहीं 
पर बातें दिल में जाने कितनी अनकही । 
ज़ुबाँ पर तेरे लफ्ज़ नहीं थे 
हम इतने कभी खुदगर्ज़ नहीं थे । 
भरोसा दर्मिया का दिल से निभाया 
आज जालिम,
दिल पर मँडरा रहा वही दर्मियाँ का साया ।

देखा एक ख़्वाब मैंने 
इजाज़त माँगी फिर दिल बसर कर जाने की 
दूरियाँ मिटाने की 
आँसुओं को तेरे 
मेरे दिल की गंगा में बहाने की ।

अचानक, 
ओझल हो गई तेरी छवि 
भोर के उजाले में 
फिर डूबता यह दिल 
अँधियारों के प्यालों में ।

 

 

#Love #SeparatedLove #LoveStory #LoveDreams #SadEnd

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..