Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
सेरोगेट मदर’
सेरोगेट मदर’
★★★★★

© Indu Singh

Others

1 Minutes   20.4K    4


Content Ranking

‘सेरोगेट मदर’

 

मानव का सृजन

जब से करने लगा मानव

किराये की कोख भी

तब से बेचने लगा मानव

भरकर परखनली में

मानव बनाने का फार्मूला

करने उसको परिपक्व

किसी मजबूर को खरीद डाला

 

न जाने किस हालत

और व्यवस्था ने एक नारी को

इतना बेबस कर दिया कि

उसने बेच दिया अपनी ममता को

सारा दर्द सारी पीड़ा सहकर

एक उम्मीद को उसने जनम दिया

जिसे किसी और ने अपना कहा

और उसे आंचल सूना मिला

बनकर भी 'माँ' वो

कहलाई गई 'सेरोगेट मदर'

एक खरीदी हुई जननी

जिसकी पहचान भी रही गुप्त

कैसी विडंबना हैं ये ???

-------------------------

pahchaan majbur

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..