Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
 आशाऐं
आशाऐं
★★★★★

© Aanchal Singh

Inspirational

1 Minutes   14.4K    2


Content Ranking

आशाऐं

मिटा दो हाथों से मेरी हर रेखाऐं ,
सुख की प्रेम की , दिल की वो अधूरी कामनाऐं ,
पर... छीनो न मुझसे मेरी वो अनंत आशाऐं ।।

हाँ आशाऐं  , आशाऐं  उन ख्वाबों की ,
                  जिनसे जीवित हूँ मैं,
हाँ आशाऐं  , आशाऐं  उन किताबों के पन्नों की ,
                             जिनसे प्रेरित हूँ मैं।। आशाऐं  ,

जिन पर नींव डली है,एक सुंदर जहाँ की 
      आशाऐं  , जिन पर किसी की आस खड़ी है ,
                            एक अप्राप्त न्याय की ।।

"ज़ालिम", ज़ालिम है ये दुनिया ,
              जिस पर रहते धरती के पिशाच हैं,
ज़ालिम है ये दुनिया , 
              जिसने अकसर तोड़ी एक गरीब की आस है ।।

पर आशाऐं ......
               आशाऐं  यहाँ भी जो डटकर खड़ी हैं ,
                          देने इस दुनिया को मात है ।।

केवल यही तो है मेरे पास और हम सब के पास ,
            मेरे हाथों की वो अनदेखी दृढ रेखाऐं हैं,
                              हाँ ये वही "आशाऐं " हैं ।।

किया जा सके शायद हर सपना पूरा जिससे,
जोड़ा जा सके शायद उन टूटे दिलों के हिस्से ,
                             हाँ ये वही आशाऐं  हैं ।।

 

aashayein poem in hindi

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..