Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
बहुत जी लिया
बहुत जी लिया
★★★★★

© Raman Sharma

Others

1 Minutes   7.1K    8


Content Ranking

बहुत जी लिया मैं ,
इश्क़ मोहब्बत दर्द में ,
लिखते लिखते थक गया ,
पर कमी नहीं पाई चाहत में ।
कलम हो रही अब प्यासी ,
कुछ ख़ास लिखने को ,
दुनिया भर के जज़्बात लिखने को ,
शब्दों को एक मार्ग देने को ।
------- रमन शर्मा हिमाचली ।

hindi poetry by raman sharma

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..