Uma Vaishnav

Romance Thriller


3  

Uma Vaishnav

Romance Thriller


तेरे नाम की लगन भाग- 2

तेरे नाम की लगन भाग- 2

2 mins 144 2 mins 144

आपने अब तक पढ़ा। राहुल और सपना बचपन से ही अच्छे दोस्त थे, अब वे बड़े हो गए थे। राहुल सपना को एक दोस्त से ज्यादा मानने लगा था। वो स्कूल से कॉलेज में आगए थे। उस दिन सपना का पहला दिन था कॉलेज में। कुछ सीनियर लडकियां सपना को घेर लेती है। अब आगे। (सीनियर लड़कियां जिनका नाम। रूही, स्नेहा, रागिनी और मीता। रागिनी उन सब की लीडर थी। जैसा वो कहती सभी वैसा ही करते) रागिनी- (सपना के चारो ओर चक्कर लगाते हुए)। हो हो तो तुम्हारा नाम क्या है। सपना- सपना रागिनी- तो आज तुम्हारा पहला दिन हैं, कॉलेज में। सपना (गर्दन हिलाते हुए)

:- हाँ रागिनी- मीता। इन मैडम को बताओ की कोई भी जूनियर "रागिनी द ग्रेट" को सेल्यूड़ किये बिना कोई भी लेक्चर अटेंड नहीं कर सकता है। मीता- सुनी। अपने सीनियर की बात सुनी तूने। चलो अब सेल्यूड करो। तभी राहुल वहा आ जाता है, और वो सारी बात सुन लेता है, उसे बिल्कुल अच्छा नहीं लगता कि कोई उसे इस तरह परेशान करें। वो तुरंत मीता के सामने जाकर खड़ा हो जाता है।और कहने लगा है।

राहुल- आप लोगों को शर्म नहीं आती। इस तरह किसी लड़की को परेशान करते हुए। आप लोग यहाँ पढ़ने के लिए आई हो। या औरो को सताने के लिए। क्यू बेकार में अपना वक़्त बर्बाद कर रही हो। इतने वक़्त पढ़ लेती तो। अब तक शायद top कर लेती। राहुल बहुत ही हैंडसम और गौराचिटा।

नौजवान युवक था। सभी लड़कियां। उसे देखती ही रह गई। जैसे उन्होने अपने सपने के राजकुमार को देख लिया हो। सपना- राहुल। तुम जाओ यहां से मैं। खुद इनको जवाब दे सकती हूँ। राहुल- नहीं सपना। मुझे बिल्कुल अच्छा नहीं लगता कि कोई तुमसे इस तरह से बात करें। तभी सामने से प्रोफेसर खुराना आते दिखाई देते हैं। उनको देखते ही सभी लड़कियाँ वहां से चुप- चाप निकल जाती है, जैसे किसी शेर को आते देख लिया हों।

सपना और राहुल प्रोफेसर को गुड मॉर्निंग कहते हैं, प्रोफेसर उनको देखते ही समझ जाते हैं कि वो दोनों कॉलेज में नये हैं, और वो सीनियर गर्ल्स इनकी रेंगिग कर रही थी। प्रोफेसर- तुम दोनों न्यू हो। सपना और राहुल एक साथ- यस। सर प्रोफेसर- ओके। अगर कोई परेशान करे या रेंगीग लेने की कोशिश करें। तो तुरंत ऑफिस में कॉमप्लेन करना। अभी तुम दोनों अपनी अपनी क्लास में जाओ। तभी वहाँ। बायो की प्रोफेसर।मिसीज दीक्षित की एन्ट्री होती है। और प्रोफेसर खुराना वही रुक जाते हैं। जैसे किसी परी को आते देख लिया हो।


Rate this content
Log in

More hindi story from Uma Vaishnav

Similar hindi story from Romance