कोट्स New

ऑडियो

मंच

पढ़ें

प्रतियोगिता


लिखें

साइन इन
Wohoo!,
Dear user,

नोट : कन्टेन्ट क्रमांक चुने हुए जोनर के तहत फिल्टर में प्रदर्शित होंगे : others

ये सब हो रहा है क्यों की यहाँ हर एक इन्सान अपने अपने तरीके से अपनी कार्य शक्ति के read more

1     7.9K    25    6664

शादी तो होनी ही थी क्या फ़र्क पडता अगर मंगनी आज हो रही थी, यही सोचकर मैने कोई न नुकुर read more

14     14.7K    20    5606

हमे नही लड़ाओ जाती के नाम पे,       ना फसाओ झूठे वादों के जाल में       बहुत दयनीय read more

4     21.2K    20    3991

( दोस्तों रिश्ते हमेशा मतलब या दिखावे से नहीं निभाए जाते वो हमेशा विश्वास से read more

1     15.1K    26    6193

अब तुम चली गयी हो, उस गुड़हल के मोह को प्रेम में तब्दील करके ! अब गुड़हल फर्श के नीचे read more

1     21.0K    18    4285

आओ मिलकर अब हम बाटें हँसी-ख़ुशी हर चेहरे में दीवाली के इस शुभ-दिन पर दीपक लगते है read more

1     7.4K    21    6846

ख्याल भी रखते इसी सेएक दूसरे का इंटरनेट पर घूम लेते साराजहाँ ,न कोई read more

1     7.3K    24    6842

* हमेशा मुस्कुराते रहो खुश रहो read more

1     21.4K    16    4626

 अमीना, इसकी जिक्र किसी से न करना ना ही कभी यह भूल दोहराना। वादा करो" अब्बू ने मुझसे read more

4     13.9K    24    5266

जीवन बंधन भी है और दर्शन भी। जीवन हर लालसा भी है और संतोष भी। "चाय सुमित्रा और read more

3     14.3K    16    5921

तो खिले read more

1     21.3K    18    4942

नदी के दो किनारों से बहते यूँ तो आ गए पास read more

1     21.0K    23    4937

इस सिसकती जिंदगी को जिंदगी कैसे कहूँजो करी तुमने थी मेरी बन्दगी कैसे read more

1     21.2K    19    4941

अजब निराली रीत है,कलयुग तेरे read more

1     14.2K    21    5911

स्पर्द्धा होने लगीस्वं के अस्तित्व सेसागर सी हिलोरेंद्वन्द्व करने लगी...... छू लूं read more

1     7.3K    16    7189

साथ तुम्हारे जो पल देखे, फिर ऐसे पल देगा कौन तुमने ही मुख मोडा, तो फिर मन को सम्बल read more

1     7.3K    17    6858

पथ के चौराहे पर हरी बत्ती की आस लिये नजरें पथरा जाती पर लाल रंग बमुश्किल read more

1     7.3K    21    6847

आखें गड़ाकर देखती रहूँ आसमान कि टूटेगा कोई तारा अभी और मैं झट से आँख read more

1     21.2K    21    4939

1     14.7K    13    6188

मेरे घर से चाय बिस्कुट एक और परिवार से भोजन और जिससे जो बन पड़े हाँ यही सजा थी उनके read more

1     14.6K    21    5910

"आज की चाय का टेस्ट कुछ अलग सा है" सुधा ने सवेरे सवेरे बहुत ही प्रफुल्लित मन से बात read more

1     13.8K    9    6190

भाभी भाभी दिए की बत्ती ले लो काम आएगी घर में"  रीमा की साडी का पल्लू पकड़ कर उसने कहा read more

1     7.1K    10    7117

"और कितनी देर है " सुबीर ने बेचैनी से पूछा "ये प्रोजेक्ट भी आज ही पूरा कर के देना है read more

2     7.5K    17    6981

“कब तक अपनी ममता से लडेगी, लाडो!! एक बार उसे अपना के तो देख, तू भी इस सुख को न महसूस read more

1     13.6K    22    6439

“पिताजी, आप जानते हो कि राजू चोर है । उसने दुकान पर चोरी की है फिर भी आपने उसे सजा read more

1     13.9K    20    5914

तुम आरोपमुक्त साबित हो गये हो | ये बहुत खुशी की बात है और अब तुम अपनी पढाई भी फ़िर से read more

1     14.3K    20    6440

 सोचता हु ज़माने की परवाह क्यू करे हम जब ज़माना खुद बेफिक्र है उन हादसों से अच्छे बुरे read more

1     7.2K    8    7192

दोनों ने एक पंडा की दुकान पर जूते-चप्पल उतरे, हाथ धोये और पानी मिले दूध का कलश, दो read more

1     7.1K    16    6668

एक फाख़्ता जब उड़ा मुंडेर से, ख़ामोशी टूटी और अपने ही इतिहास से मैं बाहर read more

1     7.7K    16    6879

प्रमिला को देखकर कह पाना मुश्किल था कि उसके जीवन में इतनी बड़ी आँधी आई होगी, जिसके read more

8     15.1K    74    3133