Read a tale of endurance, will & a daring fight against Covid. Click here for "The Stalwarts" by Soni Shalini.
Read a tale of endurance, will & a daring fight against Covid. Click here for "The Stalwarts" by Soni Shalini.

हरि शंकर गोयल

Abstract Inspirational Children

4.5  

हरि शंकर गोयल

Abstract Inspirational Children

जन्म दिन पर हार्दिक बधाई

जन्म दिन पर हार्दिक बधाई

2 mins
329


जब तुम्हारी मम्मी से 

पेट में तुम्हारे आने की 

सूचना मिली थी 

तब मैंने अपने आपको 

कितना धन्य पाया था 

ऐसा लगा कि मेरे पांव 

धरती पर नहीं हैं 

मैंने खुद को आसमां पर 

बैठा पाया था।


तुम अपनी मां के पेट में नहीं 

बल्कि हम दोनों के 

ख्वाबों में पल रहे थे 

तुम्हें लेकर तुम्हारे दादा अम्मा भी 

अपने दिलों में अरमां संजो रहे थे।


तुम्हारा नामकरण तो 

तुम्हारे आने से पहले ही हो गया था 

तुम्हारे आने की खुशी से पूरा घर 

खुशियों से भर गया था 


आज ही के दिन तुमने मुझे 

"पापा" की पदवी पर बैठाया था 

घर में सबसे छोटा था जिसे 

तुमने बड़ा बनाया था।


तुम्हें पाकर ऐसा लगा जैसे 

ईश्वर ने समस्त बहारें 

हमारी झोली में भर दी हों 

ममत्व और वात्सल्य की 

ईश्वर ने वर्षा कर दी हो 


तुम्हारा पहला स्पर्श मुझे आज भी याद है 

तुम्हारे लिए मेरे मन में 

कितना वात्सल्य उमड़ आया था 

तुम्हारे कोमल स्पर्श में मैंने 

स्वर्ग का सा आनंद पाया था 


वो छिप्पम छिपाई , वो गोल गोल घूमना

ऑफिस जाने से पहले एक चक्कर कटवाना 

"मैंगो बाइट" देखकर खुश हो जाना 

वो तेज तेज गाड़ी दौड़ाना 

वो "कूलर के कमरे" में जाकर बैठ जाना 

आज भी बहुत याद आता है।


उल्टा बी बनाने पर जब 

मम्मी जोर से चांटा मारती थी 

कसम से , मेरी तो 

जान ही निकल जाती थी 


समय कैसे निकल जाता है 

व्यस्तता के कारण पता ही नहीं चलता। 

जब तुम IIT के लिए कोचिंग हेतु 

कोटा गये थे , तब हमें बहुत अखरा 


तुम्हारी मम्मी को संभालना बहुत मुश्किल था 

मैं भी अधूरा सा हो गया था। 

इति श्री तो बिल्कुल अकेली रह गई थी 

उसका बचपन कहीं गुम हो गया था 


लेकिन जब मेरा स्थानांतरण 

कोटा हो गया था 

तब एक बार फिर से जीवन 

जीने का आनंद आया था 


वो डॉल्फिन पार्क की आंख मिचौली

लंगड़ी टांग और पकड़म पकड़ाई 

कैसे भूल सकते हैं भला 

जब तुम IIT दिल्ली चले गए थे

तब दिल को सुकून मिला।


अब तुम बैंगलोर में जॉब कर रहे हो 

अपने नव विवाहित जीवन को 

एन्जॉय कर रहे हो 

तो आज के दिन हम 

यही दुआएं करते हैं 

तुम दोनों हमेशा खुश रहो 

बस , यही कामना करते हैं। 

जन्मदिन पर हार्दिक शुभकामनाएं और बधाइयां।


Rate this content
Log in

More hindi story from हरि शंकर गोयल

Similar hindi story from Abstract