कोट्स New

ऑडियो

मंच

पढ़ें

प्रतियोगिता


लिखें

साइन इन
Wohoo!,
Dear user,

नोट : कन्टेन्ट क्रमांक चुने हुए जोनर के तहत फिल्टर में प्रदर्शित होंगे : tragedy

जीवन का चक्रव्यूह तोड़ना सिखाया करते थे। हालात क्या थोड़े से बिगड़ गए, तुम फाँसी read more

1     7.6K    18    4770

फिर एक दिन, वो काली घटा छाई, कुछ खूंखार दरिंदों ने ना जाने क्यों, उस पे अपनी नज़र read more

3     13.4K    11    3171

दिया जलता रहा राह तकता रहा, वो ना आए तेरा रतजगा हो गया। हमदम तेरा हमराह दुश्मन हुआ, read more

1     261    44    163

कभी मैं मीरा सी बनकर पी जाती हूँ विष का प्याला सजा इस बात की है कि मुरली read more

1     576    57    171

अब हम साथ है यही तुम्हारे पास है, तुम हो देश के रक्षक, दुश्मनों के भक्षक, ये देश read more

1     386    32    1247

वैसे भी अब भुलना-भुलाना तो एक आदत सी हो read more

1     980    89    226

अगर प्यार इसे कहते हैं तो, “इमोशनल अत्याचार “की परिभाषा क्या read more

1     326    50    99

बेटी लक्ष्मी होती है लिखा था एक दीवार read more

1     325    32    3391

औरत की अस्मत को यूँ सरेआम बदनाम न कर, औरत देवी भी है, ये घिनौना काम न कर, देवी ही read more

1     561    59    233

ये कविता आतंकवाद से जहन्नुम बनती ज़िंदगी की read more

1     14.8K    57    245

दोनों के दिल, रक्षासूत्र और ताबीज़ सब राज़ी थे, पर उन्हें देने वाले द्वेष और द्रोह read more

1     13.6K    10    3556

यह कविता महिलाओ के साथ समाज में होते अत्याचारो की कहानी read more

2     14.1K    56    246

मुट्ठी में कर लेगी दुनिया सात साल की छोटी read more

1     13.8K    14    3598

आपके पास तो हर चीज का जवाब होता है ना, एक बार ये तो बता दो कि, इन सबको कैसे read more

1     358    46    1310

आओ ऐतबार कर लो अब हम पर, आओ एक वफ़ा-ए-वार कर लो हम पर, भूल चुके है हम भी अपनी ही read more

1     216    18    255

बीतेगी खुद पे तब न्याय करोगे, भरे बूँद से सागर है। फूटेगी जब ले डूबेगी मजबूत नहीं read more

2     7.0K    6    6375

मुखिया हैं हम घर के "शकुन", मुखाग्नि कब मिले इसके लिए तरसना होगा read more

1     286    59    259

Hang till read more

1     14.0K    18    3913

लगता है कि बस ख़ालीपन रह गया सब निथार के ले गया वक़्त मेरे ज़िस्म से मेरी read more

1     341    54    262

करता अपनों को ही परेशान फिर क्या करे ये read more

1     308    44    270

मेरे जैसा कहा मिलेगा तुम मुझसे यह कहते थे अब के है जो साथ तुम्हारे, तुम ही बताओ read more

1     191    39    284

आजकल सांसें ठीक से ले रहे हो ना, जिंदा तो हो ना वो क्या है ना तुम कहते थे सांसों read more

2     149    16    1448

अब आख़री आँच से भस्मीभूत ही कर दो मेरा अस्तित्व कि तुम निजात पाओ मेरी read more

2     572    48    295

चाकू की नोक पर नक़ल करने वालों को देख, उसके निश्छल नयनों से फूट पड़ती है - read more

1     13.6K    66    137

पगला मन अब भी कहता है, दोस्त ने नहीं पढ़ी वो कहानी read more

2     390    16    2889

फिर बिना शिक्षा के वो सब कुछ सीख जाता read more

2     406    45    304

'कुछ टुकडो को मैने दफना दिया, कुछ तेरी राह देखते हुय पिगल गए।' प्यार में टूटे हुए read more

1     9.6K    137    225

यक़ीनन आप जरूर आएगी वहाँ, क्योंकि आपके नसीब में भी मोहब्बत की एक बरसात लिखी read more

1     365    52    321

तलवार सी मशीनें घुस गयी, बाबा बहुत चुभ रहा था। काट रहे थे शरीर मेरा तो, बाबा बहुत read more

2     7.1K    13    5184

वो अचरज मे पड़ जाते हैं शहरों की सड़कों read more

1     421    33    1768