कोट्स New

ऑडियो

मंच

पढ़ें

प्रतियोगिता


लिखें

साइन इन
Wohoo!,
Dear user,

नोट : कन्टेन्ट क्रमांक चुने हुए जोनर के तहत फिल्टर में प्रदर्शित होंगे : tragedy

यह कविता महिलाओ के साथ समाज में होते अत्याचारो की कहानी read more

2     14.0K    55    92

A Journey Through the Evolution of 5000 Year Old Traditions in 500 pages

अच्छा तो यह हो कि हम ज़िन्दगी की जंग आपस में नहीं बल्कि एक-दूसरे के साथ read more

3     250    38    466

Hang till read more

1     13.8K    15    1716

'कुछ टुकडो को मैने दफना दिया, कुछ तेरी राह देखते हुय पिगल गए।' प्यार में टूटे हुए read more

1     9.3K    134    106

हनन होता है मेरे अधिकारों का जब , टीस अथाह उठती है मेरे मन में ! अधिकारों के लिए read more

1     484    74    108

तलवार सी मशीनें घुस गयी, बाबा बहुत चुभ रहा था। काट रहे थे शरीर मेरा तो, बाबा बहुत read more

2     7.1K    12    1826

बालकों के पक रहे अभी से बाल और नौजवानों के सर पर अब बाल बचते नहीं read more

2     170    10    1037

लगता है कि बस ख़ालीपन रह गया सब निथार के ले गया वक़्त मेरे ज़िस्म से मेरी read more

1     307    52    123

सूरज ने फिर मुझ से बोला मैंने गर्मी न बढ़ाई गाड़ियों का धुआँ भाई आग जंगल read more

2     452    47    124

प्रेरणा का स्रोत सैनिक, अमर पथ पर है read more

1     366    10    1036

फिर बिना शिक्षा के वो सब कुछ सीख जाता read more

2     361    44    131

विनाश
© Jaya Tagde

Tragedy Inspirational

कहर तूने खुद बुलाया अपना कफ़न तू खुद ले read more

1     371    26    134

क्यों भूल गए तुम? जब कर रहे थे तुम read more

1     7.4K    11    2699

जो कभी किसी होटल के तंदूर में रोटी पकाते या कोयले की खदान में खुदाई करते read more

1     504    52    137

तो इतना न सोचना, पर उनसे पूछना क्यों करते हैं वे ऐसा read more

2     7.0K    7    2960

A Journey Through the Evolution of 5000 Year Old Traditions in 500 pages

पगला मन अब भी कहता है, दोस्त ने नहीं पढ़ी वो कहानी read more

2     374    15    752

हर उस मासूम के खून से तेरी मौत लिखूंगी कह रही हूँ आज सबसे तमाशा देखना बंद read more

1     350    23    140

काट ना पाए तुम बेटी के दामन पर बढ़ते हाथों को। रोक ना पाए जल्लादों के बर्बर नापाक read more

1     538    11    143

मौत औरों को डराती है, पर मांगू को बिल्कुल नहीं। क्योंकि शमशान ही उसकी कर्मभूमि read more

1     402    60    145

हर तरफ मातम पसरा है, घर से निकलने में खतरा read more

1     13.0K    5    3189

दिल की धड़कनों को धीरे करना और मौन स्वीकृति देना आतंकवाद नहीं तो क्या है read more

1     145    41    151

एक पहचान सभी को अपनी प्यारी होती है बदले जो पहचान तकलीफ तो होती read more

1     14.2K    81    47

एक नया रिश्ता हो , फिर नई शुरुआत हो बड़ी हिम्मत से मैंने उस पोटली की गिरहें read more

1     381    50    158

लाडो
© Richa Rai

Crime Drama +1

ठुमक ठुमक के चलती थी वह, छम छम पायल बजती थी । अभी इधर थी अभी उधर थी, चलती थी या read more

1     6.7K    11    3219

आँखों के चिरागों से , उनको रोशन कर दिया ! फ़िर भी धुँधलापन लिए , हम अंधेरों में read more

1     414    53    202

जब तख्त की ज़ुबाँ बोलनेे लगे अखबार, तो कैसे लिख दूँ कि कलम की ताकत अभी ज़िंदा read more

1     20.6K    33    52

और कुछ तुम कर न सको तो बस तिरंगे की आन बचा लेना उनके बलिदान का बदला तो सेना ले read more

2     399    42    1215

इसलिए प्रण करो कि सुधारे व्यवस्था के इस ढांचे को, ताकि न हो आहत कोई आगे किसी के read more

2     302    39    204

कराहती हुई रूह को सहलाते हैं खुदा करेगा इन्साफ ये समझाते read more

1     7.7K    16    3290

गूंगे बहरे शासन पर या खूनी सिंहासन पर उस बच्ची के जले शरीर पर या अपने देश read more

1     195    44    258