End of Summer Sale for children. Apply code SUMM100 at checkout!
End of Summer Sale for children. Apply code SUMM100 at checkout!

shruti chowdhary

Inspirational


3  

shruti chowdhary

Inspirational


शिक्षक- कभी न बुझने वाली लौ

शिक्षक- कभी न बुझने वाली लौ

1 min 170 1 min 170

विद्यालय की पहचान शिक्षक से होती है

सिखाते हमे विद्या का मोल

सच्ची मानवता की भावना जो भरे 

जीवन सार्थक उनसे ही होती है II


नयी चुनौतियों को स्वीकारना 

नए परिस्थिति का मुक़ाबला करना

छोटी आशाएं जो पूर्ण करें

पल भर की ख़ुशी देना उनसे ही होती है II


भविष्य सवारने की नींव जो डाले

पाप और लालच का अंतर बतलाये

अनकही बातें को समझे हमसे पहले

उज्जवल सपने देखना उनसे ही होती हैII


संचित ज्ञान का भण्डार खोलता

प्रेम सरिता की धारा बहाता

ऊंच नीच का भेद्बभाव मिटाता

कर्त्तव्य निभाने की सीख उनसे ही मिलती हैII


खुद पर उन्हें यकीन है बेहद

छलकते जल को समेटता वो

हर मुश्किल का हल सुलझाता वो

प्रेरणा कि स्त्रोत उनसे ही मिलती है II


हर गम में साथ दिया आपने

हर ख़ुशी में मुस्कुराया आपने

स्वयं को तराशना,श्रम और लग्न से

यही विश्वास का प्रसाद,आपसे ही पायी है II


सदाबहार महकता रहे आपका जीवन

ईश्वर से यही कामना है हमारी

आपके आशीर्वाद का सम्मान रखना

नए डगर की शुरुआत आज से ही होती है II



Rate this content
Log in

More hindi poem from shruti chowdhary

Similar hindi poem from Inspirational