Click Here. Romance Combo up for Grabs to Read while it Rains!
Click Here. Romance Combo up for Grabs to Read while it Rains!

Bhawna Panwar

Romance


4.0  

Bhawna Panwar

Romance


पहला प्यार

पहला प्यार

1 min 21 1 min 21


बस इतनी सी मन्नत है मेरी कि

तू मुस्कुराये तो मै तेरे लबों पर आने

वाली मुस्कान बन जाऊं।।


तेरे साथ मुझे जिन्दगी का ये सफर

सुहाना लगा हैं,इस सुहाने सफर की बस मैं

एकलौती हकदार बन जाऊं।।


हो कोई गम तुझे तो उस गम की मैं दवा बन जाऊं

और तेरा हाथ पकड़ कर तेरे ऊपर आने वाली

मुश्किलों को पार करने वाली तेरी वो शहजादी बन जाऊं।।


हमारी ये मोहब्बत युही हमेशा चलती रहें,

बस मैं तेरी इस मोहब्बत की हक़दार बन जाऊं।।


तुझ से ही मेरी जिंदगी की हर एक आरज़ू,

ताउम्र तेरे लिए जाना, मैं तेरी जान बन जाऊं।।



Rate this content
Log in

More hindi poem from Bhawna Panwar

Similar hindi poem from Romance