Participate in the 3rd Season of STORYMIRROR SCHOOLS WRITING COMPETITION - the BIGGEST Writing Competition in India for School Students & Teachers and win a 2N/3D holiday trip from Club Mahindra
Participate in the 3rd Season of STORYMIRROR SCHOOLS WRITING COMPETITION - the BIGGEST Writing Competition in India for School Students & Teachers and win a 2N/3D holiday trip from Club Mahindra

Dr.Purnima Rai

Romance Others


3  

Dr.Purnima Rai

Romance Others


चाहूँ तुम्हें उम्र-भर दिल फिर भी न भरे

चाहूँ तुम्हें उम्र-भर दिल फिर भी न भरे

1 min 193 1 min 193


चाहूँ तुम्हें उम्र-भर दिल फिर भी न भरे

पास तेरे आने की चाहत अब करे---2

दूर होकर भी तुम मेरे पास हो

क्या कहें हम सनम तुम मेरी आस हो--2


हर घड़ी कह रहा दिल मुझसे यही

भर लो बांहों में वक्त है सही

प्यार तुम्हें करते हैं मरते हैं सनम

भूल से भी न भूलेंगे खाते हैं कसम


दूर होकर भी तुम मेरे पास हो

क्या कहें हम सनम तुम मेरी आस हो


तर्ज़:जितनी दफा देखूँ तुम्हें



Rate this content
Log in

More hindi poem from Dr.Purnima Rai

Similar hindi poem from Romance