कोट्स New

ऑडियो

मंच

पढ़ें

प्रतियोगिता


लिखें

साइन इन
Wohoo!,
Dear user,

नोट : कन्टेन्ट क्रमांक चुने हुए भाषा के तहत फिल्टर में प्रदर्शित होंगे : hindi

कर के अरदास तुम साथ दोनों का मांग read more

1     61.5K    572    13

पर इस मतलबी दुनिया मे मुझे जीना सीखा कर सही read more

1     46.0K    197    547

ए ज़िन्दगी, चल​ खुद​ से मिले, हँस​ के मिले, तू वही, हम​ भी वही, ए read more

1     37.9K    421    61

चम चम करता ताज है बेटी हमको तुझ पर नाज़ है बेटी read more

1     33.3K    10    2811

ऐ मेरे मनमीत बादल इन होंठों के गीत बादल, तू बरस पर वे न बरसे अपने बेटों को न read more

1     27.9K    16    3494

ये कविता के जन्म का शब्दश: वर्णन read more

1     23.8K    664    9

लोहे ने तुझे बनाया है अपने को खूब तपाया है दृढ़ हौसला पाया है तुझे जीतना भाया read more

1     22.7K    10    2811

Ahindi poem highlighting current indian read more

2     21.7K    7    8433

बचपन के बारे में एक read more

1     21.6K    43    179

जब तख्त की ज़ुबाँ बोलनेे लगे अखबार, तो कैसे लिख दूँ कि कलम की ताकत अभी ज़िंदा read more

1     21.4K    64    29

एक ही ज़िंदगी है, अपनी इच्छाओं को पूरी करो यही दुनिया के सारे द्वार खोलता है, मैंने read more

2     21.4K    31    213

कविता
© vivek verma

Drama Inspirational

छोटे बच्चों को ना रोको, खेलने दो रेत में पाक रहने दो उन्हें, अपना गणित सिखलाओ read more

1     21.3K    16    271

इन मय-क़शी सदाओं में ज़रा सी अज़मत भर देना... गुज़ारिश है तुमसे, एक बार, बे-दिली read more

1     21.3K    29    396

अतिनवीन रचना जिसमें “तप्तरुधिर के भाग्यकोष” नौजवानों का सम्बोधन है read more

1     21.3K    3    8914

कोई जगह कोई दहर हो जहाँ वक़्त न पंहुचा हो अभी भी बेवक़्त पहुँचेंगे वहाँ और बैठे read more

1     21.3K    30    659

एक कविता - : 'सबसे भूखा read more

1     21.2K    30    267

जिसका गहना उसका मान सम्मान है औऱ जिसकी मुस्कुराहट उसके आज़ाद विचारों की पहचान है read more

1     21.2K    25    269

बस तुम यूं ही आ read more

1     21.2K    30    805

उसकी फ़ितरत इंसानों से अलग है, वो आख़िरी साँस तक साथ निभाऐगी।हाँ सच ही तो, याद ही तो read more

4     21.1K    21    5835

वो दर्द की रात थी... तेज बरसात read more

2     21.0K    19    270

विनाश सदैव विकल्प है प्रथम खटकाओ सभी read more

2     21.0K    31    266

मैंने विरासत में करोड़ो पाने वालो को, छिपने में सुकून महसूस करते देखा है| मैंने देखा read more

4     21.0K    4    5465

मंजिल नाम अपने इस बार कर चल उठ प्रण कर ना क्षण एक बेकार read more

2     20.9K    62    62

जो मैं लिखता read more

1     20.9K    20    1388

भोर - सी read more

1     20.9K    27    1170

मुझमे राम भी बसे और खुदा भी मेरा भरोसा है जीसस और ईमान गुरु नानक read more

1     20.9K    10    2162

सूर्य मुस्कुराकर, खुद छिप जाएगा, कि तारों की रौशनी ही, अब इस जहाँ को, नई राह read more

1     20.9K    10    1875

ये लचक, ये महक और मेरी ये खुमारी। मैं किसी दिन ज़रूर काम में read more

1     20.8K    6    5032

1     20.8K    9    5837

ताज के आम हीरो '  (Based on the events of read more

2     20.8K    10    7520