Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,



Poonam Matia   Author of the Year 2018 - Nominee

poetess , shayra , anchor and freelance writer

  Literary Colonel

Love Filters Down The Soul

Drama Romance

The smile on my lips and soul a little calm I do long for your mesmerizing charm Shines a twin...

1    1 0

Short Lived Fears

Abstract

Dark dreary night I sat there in fright Lonely, silent and gloomy None could see my plight

1    369 23

You Are My Decor

Romance

a short poem showing the lover as the beloved's decor

1    1.2K 6

Split Vision

Inspirational

a very nice poetry describing the ultimate destination of life

1    6.9K 8

Hungry Flames

Romance

Eyes Might be closed,Night might be dark, Moon might be hiding behind black clouds..

1    6.9K 5

The Home Maker

Others

Greens brewing oxygen worth crores, taken for granted, So is the tireless humble homemaker goes und...

1    13.8K 4

हाथ कंपकंपाते हैं

Others

एक मुद्दत से तमन्ना थी उन्हें छूने की आज जब करीब हैं वो न जाने क्यों हाथ कंपकंपाते है

1    82 1

संस्कार या पैसा

Others

परिवार दिखता नहीं प्यार पलता नहीं

1    60 2

विश्वास का रिश्ता

Others

हर तसव्वुर की ताबीर हूँ ख्वाब तुम इक बुनो तो सही

1    67 1

एक ही घर में दो मकान

Abstract

माँ अपनी है तो बच्चों की माँ भी अपनी है ये भी तो समझना है।

1    271 1

फेल हो गये

Tragedy

ये मासूम आखिर क्यों जीवन की पटरी से बे-वक़्त ‘डी-रेल’ हो गए

1    175 8

माँ- नज़र का टीका

Abstract

सब बलाओं से रखती बचा जैसे टीका नज़र का है वो।

1    48 1

*हो न लोकतंत्र की हार...

Others

जल-थल-अम्बर हर जगह, है क़दमों की छापराम-राज का स्वप्न सच, होगा अपने आप लोकतंत्र में वोट पर, है अपना...

1    223 7

मिलन की पहली बेला

Romance

धूप थी तेज पर कहाँ लगी, देर तो हुई पर खड़ी रही, दिल घड़ी की टिक-टिक सा... धड़क-धड़क कर बता रहा

1    1.1K 11

छंद- कुंडलियाँ

Drama

गुरु बिन कैसा ज्ञान, शिष्य फिर मिल के बोले।।

1    6.8K 9

शहीदों को समर्पित

Inspirational

'एक सैनिक जब सीमा पर बिना पलक झपकाए सुरक्षा अकर्ता है, तब हम देश की सीमा के भीतर चैन की नींद सोते है...

1    8.6K 7

नयी चेतना लायें-शिक्षक दिवस

Inspirational Others

'कभी रीढ़ थी सशक्त शिक्षा प्रणाली, पर आज क्यों शिक्षा पिछड़ी जाए ? शिक्षक दिवस पर क्यों न फिर से सोच...

1    13.1K 10

इन्द्र-शची

Drama

अनुष्ठान सपन्न होवे, जब बने स्त्री-पुरुष योजक...!

1    7.2K 12

अंतहीन चक्र

Drama

भ्रमित है मानव, संभवतः, क्या, क्यों और कहाँ, होना है स्थिर मुझको अंततः...!

1    13.9K 8

ग़ज़ल

Drama

नींद क्या आई बहाना, ओढ़ कर सोते रहे...!

1    6.9K 8

सिर्फ़ ख़ामोशी

Drama

बाहर न जाने क्यूँ सिर्फ़ ख़ामोशी रह जाती है...!

1    1.5K 9

ग़ज़ल

Drama

तन्हा-तन्हा रातें अपनी मीठी-मीठी बातें उनकी क्या जाने हम सोच के अपनी आँखों में आँसू भर लाए !

1    14.0K 19