Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,



Dr. Shikha Maheshwari

  Literary Colonel

प्रेम या ग़लती

Romance

तुमने कहा हमेशा हाथ थामे रहोगे तुम हाथ कस कर पकड़ लिया, क्या कोई ग़लती कर दी?

1    10 0

संघर्ष और सपने

Inspirational

बस इतना ही फ़र्क रहा मेरे कल में आज में।

1    259 37

जो नहीं ठहरा

Others

रोज़ मिले तुम जज्बातों में, पर आँखों का अश्क नहीं ठहरा। सागर का पानी ठहर गया,

1    20 1

अंतस की आवाज

Tragedy

तो आज मैं भी हिस्सा होती मुस्कान सहित इस समाज का।

1    174 18

बदलाव

Abstract

और तुम्हारे लिए खुद को बदलना मुझे अच्छा लगता था। और जब बदल लिया मैंने खुद को तो। ..

2    18 0

गंतव्य

Abstract

मन उदास हो गया और फिर मेरा ‘गंतव्य’ आ गया।

2    170 30