Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,



Himanshu Sharma   AUTHOR OF THE YEAR 2018 - NOMINEE

A faculty by profession and writer by hobby

  Literary Colonel

ठूँठ

Abstract

चौराहे के ठूँठ पर भूत रहते हैं जो जिस्म और रूह खोर होते हैं !

5    66 3

भूख की राजनीति

Others

दिनों से भूखा मंगलू राजनैतिक ताक़त के आगे मन-मसोस के रह गया

3    186 1

कचरे का मोल

Tragedy

मुझे उसके इस उत्तर ने निरुत्तर कर दिया था और मैं आश्चर्यचकित था कि प्रशंसा किसकी करूँ उसकी वणिकवृत्त...

3    283 10

पानी कब आएगा ?

Drama

प्राचार्य महोदय को छुट्टी से लौटे आज ३ साल हो चुके हैं और आज भी वाल्व बंद है !

4    647 12

बकरियाँ और मीटिंग

Others

इस तरह मीटिंग मैं-मैं के स्वर से चालू हुई और इसी मैं-मैं के स्वर से समाप्त भी

2    666 53

शव पे राजनीति

Drama

मैं सोच रहा था कि क्या ये कहानी उस कुत्ते की ही है या फिर......

3    451 16

मैं फेल नहीं करूंगा

Comedy Drama

अंततः यही कहना चाहूंगा विद्या यत्न से मिलती है धन से सिर्फ विलासिता मिलती है !

4    424 16

भीख़

Drama

आज उसे लग रहा था कि इस भिखारी को तो भीख मिल जाती हो उसे चाहकर भी नहीं मिली ! वो भिखारी ख़ुश था और वो ...

3    488 12

नरबलि

Others Tragedy

"बेटा! अगर गाँव को बचाना है तो नरबलि देनी पड़ेगी और मैं जिसे चुनूंगा उसकी ही देनी पड़ेगी !' एक अंधश्रध...

4    14.7K 27

धर्म

Crime Drama Tragedy

शहर में दंगे चरम पर थे और चरम पर थी मानव में बसे पशु की पराकाष्ठा ! चारों और बस मार-काट का आलम था न ...

3    14.1K 21

आहत भावनायें

Crime Drama

मानव एक प्रबुद्ध प्राणी है...यानि कि कहा जाता है कि मानव में सोचने की क्षमता है, इसलिए वो किसी भी बा...

5    7.9K 23

वो दिन

Drama

नयी बहू का गृह प्रवेश हुआ, मीता बहुत खुश थी कि उसकी ज़िंदगी का एक नया पहलू, नया अध्याय शुरू होनेवाला ...

3    7.7K 34